Up Gehun Kharid Online kisan Registration 2021

Up Gehun Kharid Online kisan Registration 2021

Share
  • 30
    Shares

Up Gehun Kharid Online kisan Registration 2021 || UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2021 || उत्तर प्रदेश किसान पंजीकरण || क्रय प्रणाली || गेहूं खरीद किसान ऑनलाइन आवेदन || क्रय प्रणाली पोर्टल

उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने नागरिकों के लिए ऑनलाइन पोर्टल लॉन्च किया है जिसका नाम है खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश क्रय प्रणाली / उपार्जन पोर्टल। इस पोर्टल के माध्यम से किसान अपनी फसल को राज्य सरकार को बेच पाएंगे।

इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से किसानों को अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा। पंजीकरण हो जाने के बाद किसान अपनी रबी की फसल (गेहूं) को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकारी एजेंसियों को  बेच पाएंगे।

आज हम इस आर्टिकल में UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण के बारे में पूरी जानकारी देंगे।यदि आप भी इस बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं अब तो हमारे इस लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

उत्तर प्रदेश क्रय प्रणाली 2021 क्या है?

उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने राज्य के किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदने का कार्य अप्रैल से शुरू कर दिया है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यह खरीद 15 जून 2021 तक की जाएगी। राज्य के ऐसे किसान जो अपनी फसल को बेचना चाहते हैं तो वह खाद्य एवं रसद विभाग की क्रय प्रणाली की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर अपना पंजीकरण करवा ले।

UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2021

रबी की फसल के लिए अप्रैल से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू हो जाएंगे। उत्तर प्रदेश में 1 अप्रैल से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद शुरू हो जाएगी। इस बार उत्तर प्रदेश की सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य 1975 रुपए प्रति क्विंटल घोषित किया है। गेहूं बेचने से पहले किसानों को ई- क्रय प्रणाली पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। लेकिन जिन्होंने खरीफ की फसल के समय रजिस्ट्रेशन करवाया था उन्हें दोबारा रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं है।

उत्तर प्रदेश गेहूं खरीद किसान योजना का उद्देश्य क्या है?

उत्तर प्रदेश गेहूं खरीद किसान योजना  को लागू करने के पीछे सरकार का उद्देश्य यही है कि वह प्रदेश के किसानों की फसल को समय से खरीद सके इसलिए सरकार ने ऑनलाइन पोर्टल की शुरूआत की है जिससे लोगों को फसल बेचने के लिए इधरउधर भटकना नहीं पड़ेगा। और फसल बेचने के बाद किसान को उसके बैंक खाते में भुगतान कर दिया जाएगा। इससे लोगों का सरकार के प्रति भरोसा भी बढ़ेगा और गेहूं खरीद में पारदर्शिता भी आएगी।

गेहूं खरीद में रखी जाएगी पारदर्शिता

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि क्रय केंद्रों पर विभिन्न प्रकार के इंस्ट्रूमेंट यंत्र जैसे इलेक्ट्रॉनिक कांटा, डबल जाली का छलना, नमी मापक यंत्र आदि उपलब्ध कराया जाए। इन सभी उपकरणों को 10 मार्च तक क्रय केंद्रों पर उपलब्ध कराया जाएगा। इसके साथ साथ ई पॉप मशीनों के माध्यम से बायोमैट्रिक ऑथेंटिकेशन द्वारा गेहूं खरीदने की व्यवस्था की जाएगी।

क्रय केंद्रों पर पथ प्रदर्शक चिन्ह

मुख्यमंत्री द्वारा क्रय केंद्रों पर पथ प्रदर्शक चिन्ह लगाए जाने के निर्देश दिए गए हैं इसके साथ-साथ ग्राम पंचायत में भी क्रय केंद्रों की सूची वाली वॉल पेंटिंग कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं। इससे किसान भाइयों को सुविधा होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि गेहूं खरीद में पारदर्शिता सुनिश्चित की जाए और किसानों को गेहूं का समय से भुगतान किया जाए।

क्रय प्रणाली की विशेषताएं

  • अब किसानों को मंडियों में अपनी फसल ले जाने से पहले उनको उपार्जन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा इसके बाद उनको टोकन भी प्राप्त करना होगा। अपनी बारी आने पर अब उनको मंडी में जाकर फसल को बेचना होगा।
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने इस वर्ष 2020-21 पूरे प्रदेश में गेहूं खरीदने के लिए 5500 केंद्र बनाए हैं। इस साल 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदने का लक्ष्य रखा गया है।
  • राज्य के सभी किसान पंजीकरण कराने के बाद अपना टोकन अभी से प्राप्त कर लें और फिर उसी दिन मंडी जाए जिस दिन का टोकन उन्हें  मिला हो।

उत्तर प्रदेश गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2021 के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • अपनी जमीन से संबंधित कागजात जैसे खसरा और खतौनी और जमीन का रकबा
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक पासबुक

UP गेहूं खरीद किसान पंजीकरण की महत्वपूर्ण बातें

  • रजिस्ट्रेशन करते समय गेहूं के खेत का विवरण देना जरूरी होगा।
  • खेत के विवरण में  खसरा संख्या और खतौनी संख्या को भरना जरूरी है।
  • आधार कार्ड और बैंक पासबुक का सही विवरण देना होगा ।
  • रजिस्ट्रेशन हो जाने के बाद रजिस्ट्रेशन नंबर और प्रिंट आउट निकाल ले।
  • मोबाइल नंबर देकर रजिस्ट्रेशन में संशोधन किया जा सकता है।
  • जब तक आवेदन लॉक नहीं किया जाएगा तब तक रजिस्ट्रेशन पूरा नहीं माना जाएगा।
  • आपके मोबाइल नंबर पर रजिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी भेजी जाएगी ।
  • 100 क्विंटल से अधिक गेहूं की बिक्री के लिए एसडीएम से सत्यापन कराना जरूरी होगा।
  • गेहूं बेचने के बाद रसीद अवश्य प्राप्त करें।

किसान पंजीकरण से संबंधित आवश्यक जानकारी

  • किसान पंजीकरण में आवेदन करने के लिए आपको स्टेप 1 से स्टेप 6 तक पालन करना अनिवार्य है।
  • पंजीकरण करने से पहले स्टेप 1 को डाउनलोड करके प्रिंट कर लें और प्रिंट किए गए प्रारूप में आवश्यक सूचनाओं को भर दे।
  • पंजीकरण करते समय उपयोग की जाने वाली सभी भूमि का विवरण देना होगा।
  • इसके साथ साथ खतौनी/ खाता संख्या ,प्लॉट/ खसरा संख्या,भूमि का रकबा, फसल का रकबा आदि भी देना होगा।
  • इसके साथ-साथ आधार कार्ड,बैंक पासबुक एवं राजस्व अभिलेखों का भी विवरण देना होगा।
  • स्टेप 1 पूरा होने के बाद स्टेप 2 में पंजीकरण प्रपत्र के विकल्प से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं ।
  • ऑनलाइन आवेदन होने पर पंजीकरण संख्या को नोट कर लें। एवं स्टेप 3 से पंजीकरण ड्राफ्ट से ड्राफ्ट आवेदन प्रिंट कर लें।
  • यदि आपको किसी भी प्रकार की संशोधन की आवश्यकता है तो आप स्टेप 4 में संशोधन करा सकते हैं।
  • सही जानकारी भरने के बाद स्टेप 5 में पंजीकरण को लॉक कर सकते हैं।
  • स्टेप 6 के माध्यम से पंजीकरण फाइनल प्रिंट कर सकते हैं।
  • गेहूं बेचने के बाद आपको केंद्र प्रभारी से पावती पत्र जरूर प्राप्त कर लें।
  • गेहूं बेचते समय किसान को अपना पंजीकरण प्रपत्र एवं कंप्यूटराइज्ड खतौनी ,फोटोयुक्त पहचान पत्र, बैंक के पासबुक की प्रथम पेज की छाया प्रति, आधार कार्ड आदि लाना अनिवार्य है।

UP गेहूं खरीद में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

    • अब आपको अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड को भरना होगा। अब आपको आगे बढ़े के बटन पर क्लिक करना होगा।

    • इसके बाद रबी की फसल (गेहूं खरीद) के लिए किसान ऑनलाइन पंजीकरण प्रपत्र/फार्म खुल जाएगा। इस पंजीकरण फार्म में आपसे पूछी गई समस्त जानकारियां जैसे किसान का नाम, पता ,मोबाइल नंबर, आधार कार्ड नंबर, पिता, पति का नाम, तहसील, जनपद आदि को भरना होगा।
    • सभी जानकारी भरने के बाद आपको पंजीकरण करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • पंजीकरण प्रारूप

    • किसान भाई ऑनलाइन पंजीकरण से पहले आवेदन पत्र का प्रारूप भी देख सकते हैं जिससे उनको रबी की फसल को बेचने के लिए एप्लीकेशन फार्म भरने में आसानी होगी।
    • आपको पंजीकरण प्रारूप पर क्लिक करना होगा। अब आपके सामने पंजीकरण प्रारूप की पीडीएफ खुल जाएगी। अब आप इसे पढ़ सकते हैं।
  • UP किसान पंजीकरण संशोधन /ड्राफ्ट

    • अगर आपने गेहूं खरीद के लिए पंजीकरण फार्म भरते समय किसी भी प्रकार की गलती कर दी है तो आप को पंजीकरण संशोधन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपके सामने फार्म खुलकर आ जाएगा अब आप इसे सही कर सकते हैं।
  • किसान पंजीकरण फार्म प्रिंट करने की प्रक्रिया 

    • ऐसे लोग जिन्होंने ऑनलाइन आवेदन कर दिया है और उस आवेदन पत्र का प्रिंट निकालना चाहते हैं तो आपको पंजीकरण प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपके सामने नया पेज खुल कर आ जाएगा।
    • अब आपको अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड को भरना होगा। अब आपको आगे बढ़े के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपके सामने भरा हुआ प्रपत्र खुल जाएगा और आप इसे डाउनलोड कर सकते हैं।
  • लॉक के उपरांत टोकन बनाएं 

    • किसान ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भरने के बाद आपको अपनी फसल को किस दिन लेकर जाना है इसके लिए आपको मंडी टोकन बनाना होगा।
    • अब आपको लॉक के उपरांत टोकन बनाएं के विकल्प पर क्लिक करना होगा। अब आपके सामने नया पेज खुल कर आ जाएगा।
    • अब आपको किसान पंजीयन आईडी अथवा मोबाइल नंबर एवं कैप्चा कोड को भरना होगा।
    • अब आपको आगे बढ़े के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • इसके बाद ऑनलाइन टोकन पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा यह  टोकन किसान को उसके मोबाइल नंबर पर ही प्राप्त होगा।

हमने आपको इस आर्टिकल में UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण से संबंधित समस्त जानकारियों को आपसे साझा कर दिया है। आवेदन करने में आपको यदि किसी भी प्रकार की समस्या हो रही है तो आप विभाग द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं एवं अपनी समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते हैं ।

हेल्पलाइन नंबर – 1800000150

  • 30
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *