उत्तराखंड मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2021 (आवश्यक दस्तावेज, लाभ, पात्रता एवं ऑनलाइन एप्लीकेशन)

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2021 (आवश्यक दस्तावेज, लाभ, पात्रता एवं ऑनलाइन एप्लीकेशन)

Share
  • 107
    Shares

Mukhyamantri Vatsalya Yojana 2021 (मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2021)

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2021 – उत्तराखंड सरकार: हम सभी जानते हैं कोविड-19 देशभर में यहां तक की सारी दुनिया में एक महामारी बनकर फैला हुआ है। कोरोनावायरस ने सारे विश्व में साथ ही हमारे देश / प्रदेश में बहुत सारे लोगों की जान ले ली है। यह बीमारी तरह-तरह से लोगों के बीच में फैल रही है। इस वायरस की वजह से हमारे देश में बहुत सारे लोगो की मृत्यु हो गई हैं जिससे कि उनके बच्चों के भरण-पोषण  में समस्या आ रही है। अगर घर में कमाने वाले व्यक्ति की मृत्यु हो जाए तो बाकी के परिवारी जनों को जीवन यापन करने में बहुत ही कठिनाई का सामना करना पड़ता है।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय जेपी नड्डा जी ने यह बयान दिया है कि जिन प्रांतों में बीजेपी की सरकारें हैं वहां पर माता-पिता को खोने वाले बच्चों के लिए नई योजनाओं का शुभारंभ किया जाएगा। इसी बात को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री माननीय तीरथ सिंह रावत जी ने उत्तराखंड के बच्चों के लिए मुख्यमंत्री  वात्सल्य योजना को प्रारंभ करने की घोषणा कर दी है। योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना हैं।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2021 क्या है?

उत्तराखंड के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री माननीय श्री तीरथ सिंह रावत जी द्वारा मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना (Mukhyamantri Vatsalya Yojana 2021) की घोषणा की गई है जिसके माध्यम से उन बच्चों को जिनके माता-पिता की या घर में कमाने वाले व्यक्ति की कोरोना संक्रमण की वजह से मृत्यु हो गई है, ऐसा होने पर बच्चों को जो की अपनी जीविका के लिए माता पिता पर निर्भर थे, उन्हें आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ेगा। और उनका भविष्य अंधकारमय हो जायेगा। माननीय मुख्यमंत्री जी इस योजना के माध्यम से ऐसे बच्चों को प्रत्येक महीने ₹3000 की धनराशि देंगे, जिससे कि उनका  भरण-पोषण हो सके और उन्हें किसी और पर डिपेंड ना रहना पड़े।

यह राशि सीधे लाभार्थी (बच्चे) के खाते में ट्रांसफर की जाएगी और बच्चों को आत्मनिर्भर बनने में मदद करेगी। इस योजना का फुल बेनिफिट लेने के लिए एप्लीकेंट (बच्चे) का बैंक अकाउंट होना जरूरी  है। आर्थिक सहायता के अलावा सरकार बच्चों की  शिक्षा व्यवस्था का भी ध्यान रखेगी और यह सुनिश्चित करेंगे के आर्थिक तंगी किसी भी तरह से उन्हें शिक्षित होने से रोक ना सके। यदि आप या आपके आसपास ऐसे बच्चे हो तो उन्हें आवेदन करने के लिए मोटिवेट कर सकते हैं और आवेदन में उनकी सहायता कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2021 के मुख्य पहलु (Heighlights)

मुख्य बिंदु  जानकारी
योजना का नाम मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना
योजना आरंभ करने वाला राज्य उत्तराखंड राज्य सरकार 
बेनिफिट लेने  वाला वर्ग वह बच्चे जिन्होंने अपने मां-बाप (अभिभावक) को  कोरोना संक्रमण की वजह से खो दिया है
योजना का उद्देश्य  आर्थिक सहायता के माध्यम से बच्चों को आत्मनिर्भर बनाना, शिक्षा प्रदान करना और रोजगार प्रदान  करना
ऑफिशल वेबसाइट जल्द ही  शेयर की जाएगी
वर्ष  2021
 सहायता राशि  ₹3000 प्रतिमाह
नौकरी में आरक्षण  5% 

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2021 का प्रभाव

यह योजना उत्तराखंड सरकार द्वारा उठाया जाने वाला एक गौरवशाली कदम है जिससे कि बच्चे जो अपने मां-बाप को कोविड-19 संक्रमण से खो चुके हैं उन्हें आर्थिक तौर से  आत्मनिर्भर बनाने के लिए उठाया गया है। यह योजना बच्चों को प्रोत्साहित करेगी और आर्थिक तंगी से निजात दिलाएगी। ₹3000 प्रोत्साहन राशि के रूप में बच्चों के खाते में डायरेक्ट ट्रांसफर किए जाएंगे जिससे कि बच्चे अपना भरण-पोषण कर सके। यह धनराशि 21 साल की आयु तक प्रदान की जाएगी।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2021 के लाभ और मुख्य बिंदु (Benefits & Key Points)

माननीय मुख्यमंत्री द्वारा चलाई जाने वाली मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के माध्यम से ऐसे बच्चों को ₹3000 रुपए की आर्थिक सहायता देना है, जिन बच्चों के माता-पिता या अभिभावक जन की मृत्यु कोविड-19 (कोरोना वायरस) की वजह से हुई है।  प्रदेश की सरकार बच्चों की शिक्षा व्यवस्था को सुनिश्चित करने के साथ-साथ रोजगार देने के लिए भी प्रयास करेगी। 

इस दिशा में सरकार नौकरियों में भी कुछ प्रतिशत कोटा निर्धारित करना चाहते हैं जो कि 5% तक हो सकता है। इतना ही नहीं बच्चों की पैतृक संपत्ति को बेचने का अधिकार किसी को नहीं होगा। जब बच्चे की आयु 21 वर्ष या उससे अधिक हो जाएगी तो उस पैतृक संपत्ति को वह स्वयं बेच सकता है। इस व्यवस्था को बनाए रखने के लिए सरकार जिले के सर्वोच्च अधिकारी को यह जिम्मेदारी दी जाएगी।  इस योजना के  माध्यम से अगर बच्चों को रोजगार के लिए प्रशिक्षण की आवश्यकता है तो प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

  • उत्तराखंड सरकार के मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत जी ने मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना की शुरुआत की है।
  • कोरोना महामारी के कारण जिन बच्चों के माता पिता (अभिभावक) का देहांत हो गया है उनको सरकार द्वारा आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • आर्थिक सहायता के रूप में बच्चे को उसकी आयु 21 वर्ष होने तक सरकार द्वारा ₹3000 प्रतिमाह दिए जायेंगे। इसके लिए बच्चे का बैंक में अकाउंट होना आवश्यक है और सहायता राशि सीधे बच्चे के खाते में आएगी।
  • मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के तहत सरकार द्वारा बच्चो को शिक्षा में भी सहायता दी जाएगी एवं शिक्षा पूरी हो जाने के बाद उनको रोजगार देने में भी सरकार मदद करेगी। इसके लिए सरकार ने सरकारी नौकरी में 5% का कोटा देना भी तय हुआ है। बच्चे को नौकरी के लिए ट्रेनिंग भी प्रदान की जाएगी।
  • बच्चा जब तक वयस्क नहीं हो जाता तब तक बच्चे की पैतृक संपत्ति को कोई भी नहीं बेच सकता, इस चीज़ का दायित्व जिला अधिकारी का होगा।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2021 के लिए पात्रता (Eligibility)

  • जिस बच्चे को इस योजना का लाभ दिया जाएगा उसके माता पिता की मृत्यु कोविड – 19 से हुई हो।
  • बच्चे का किसी बैंक में खाता होना आवश्यक है।
  • बच्चा उत्तराखंड का मूल निवासी होना चाहिए।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2021 के लिए आवश्यक दस्तावेज (Required Documents)

  • बच्चे के माता पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • बच्चे का आधार कार्ड
  • राशन कार्ड में बच्चे का नाम
  • बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र
  • बच्चे के माता – पिता का आय प्रमाण पत्र
  • बच्चे का पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • बच्चे का बैंक खाता विवरण

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2021 के लिए आवेदन प्रक्रिया (Online Application)

उत्तराखंड सरकार ने मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना की आधिकारिक घोषणा एवं पुष्टि कर दी है परंतु अभी योजना में आवेदन प्रक्रिया शुरू नहीं की है सरकार द्वारा जैसे ही आवेदन प्रक्रिया शुरू की जाएगी आपको इस लेख के माध्यम से सूचित कर दिया जाएगा। साथ ही आवेदन करने की पूरी विधि भी बताई जाएगी।***

  • 107
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *