एम पी इ-उपार्जन 2021-22 (MP E-Uparjan 2021-22)

एम पी इ-उपार्जन 2021-22 (MP E-Uparjan 2021-22)

Share
  • 20
    Shares

MP E Uparjan 2021-22 || एम पी उपार्जन रबी 2021-22 || किसान ऑनलाइन पंजीयन || किसान ऑनलाइन पंजीयन || एमपी उपार्जन किसान पंजीकरण

एमपी उपार्जन पोर्टल की शुरुआत मध्य प्रदेश सरकार ने अपने राज्य के किसानों के लिए अपनी फसल बेचने के लिए इस पोर्टल को शुरू किया गया है। ऐसे किसान जो खरीफ की फसल को समर्थन मूल्य पर सरकार को  बेचना चाहते हैं उनको इस पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा।

एमपी उपार्जन पोर्टल 2021 क्या है?

एमपी ई- उपार्जन पोर्टल की शुरुआत हो चुकी है इस पोर्टल के माध्यम से सरकार लोगों से खरीफ सीजन के दौरान समर्थन मूल्य पर फसल खरीदेगी। अब लोगों को अपनी फसल को बेचने के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा और उनको अपनी फसलों के अच्छे पैसे भी मिल जाएंगे। यदि आप भी समर्थन मूल्य पर अपनी फसल को बेचना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले एमपी उपार्जन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा इसके बाद ही आप अपनी फसल को बेच पाएंगे।

सरकार द्वारा एमपी उपार्जन पोर्टल के अंतर्गत पूरे मध्य प्रदेश को कवर करने की योजना बनाई गई है। इसलिए मध्य प्रदेश के प्रत्येक जिले की अनाज की मॉनिटरिंग की गई है। मॉनिटरिंग में पाया गया है कि मध्य प्रदेश में गेहूं खरीद प्रणाली में 2830 खरीद केंद्र हैं, 708 रनर्स एवं 2830 डाटा एंट्री ऑपरेटर है तथा 12834 किसान गेहूं की फसल को प्रतिदिन बेचते हैं। इस मॉनिटरिंग में यह भी पता चला है कि धान खरीद प्रणाली में 795 खरीद केंद्र हैं, 199 रनर्स और 750 डाटा एंट्री ऑपरेटर है। एवं 4250 किसान धान की फसल को प्रतिदिन बेचते हैं।

एमपी उपार्जन पोर्टल का उद्देश्य क्या है?

इस पोर्टल को शुरू करने का उद्देश्य यही है कि पिछली साल कृषि मंडी के दौरान जो ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू की गई थी उसकी वजह से किसानों को कम मूल्य पर अपनी फसलों को बेचना पड़ा था। किसानों की इसी समस्या को दूर करने के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने इस बार एमपी उपार्जन के माध्यम से पंजीकरण प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी है। इस साल किसान ई उपार्जन के लिए सार्वजनिक डोमेन में ई प्रोक्योरमेंट पोर्टल पंजीकरण केंद्रों में बिना पंजीकरण करा सकेंगे।

उपार्जन पोर्टल किसान ऑनलाइन पंजीयन

पिछले साल ई उपार्जन पोर्टल पर किसान ऑनलाइन पंजीकरण केवल कृषि उपज मंडी के माध्यम से होता था जिसकी वजह से किसानों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता था। लेकिन इस साल ऐसा नहीं है अब किसान घर बैठे ही उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण कर पाएंगे और उनको कहीं जाना भी नहीं पड़ेगा।

एमपी उपार्जन उपलब्ध सेवाएं

  • स्टेट यूजर
मुख्यमंत्री कार्यालय  मुख्य सचिव कार्यालय
मुख्य सचिव कार्यालय संचालक कृषि
खाद्य मंत्री मध्य प्रदेश स्टेट सिविल सप्लाई कारपोरेशन ( वित्त)
कृषि उत्पादन आयुक्त आयुक्त भू अभिलेख
प्रमुख सचिव कोऑपरेटिव नाफेड
प्रमुख सचिव कृषि  अपेक्स बैंक
प्रमुख सचिव खाद्य  मंडी बोर्ड
प्रमुख सचिव वित्त मध्य प्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ
प्रमुख सचिव राजस्व मध्य प्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ(वित्त)
सचिव खाद्य  भारतीय खाद्य निगम
आयुक्त खाद मध्य प्रदेश वेयरहाउसिंग एंड लॉजिस्टिक्स कॉरपोरेशन
कपास  पब्लिक रिलेशन
रजिस्ट्रार कोऑपरेटिव सोसायटी
मध्य प्रदेश स्टेट सिविल सप्लाई कारपोरेशन
  • डिस्ट्रिक्ट यूजर
कलेक्टर  प्रबंधक भारतीय खाद्य निगम
आयुक्त संभाग  बिहार को ऑपरेटिव
एसडीएम  सिंचाई विभाग
एसडीओ फॉरेस्ट जिला केंद्रीय सहकारी बैंक
रीजनल मैनेजर (एम पी एस सी सी) कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक
जोनल मैनेजर मार्कफेड डीआईओ
जिला मैनेजर( एम पी एस सी सी) सीईओ जिला पंचायत
 डीएमओ मार्कफेड उप संचालक कृषि
 प्रबंधक( एमपीडब्ल्यूएलसी) प्रबंधक  नाफेड
डीएसओ
  • अदर यूजर
पंजीयन  केंद्र एडमिनिस्ट्रेटर
पंजीयन केंद्र किओस्क डाटा क्लीनिंग
तोल कांटा विभाग कॉल सेंटर
समिति जिला केंद्रीय सहकारी ब्रांच
तहसीलदार एसबीआई बैंक खाता सत्यापन

मध्य प्रदेश उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण के लिए आवश्यक निर्देश

  • इस साल मध्य प्रदेश के सभी किसानों को अपने आधार कार्ड नंबर और समग्र आईडी के माध्यम से पंजीकरण करवाना होगा।
  • यदि आपके पास समग्र आईडी नहीं है तो आप इस पोर्टल पर पंजीकरण नहीं कर सकते हैं इसके लिए आपको सबसे पहले समग्र आईडी के लिए आवेदन करना होगा।
  • पंजीकरण के लिए आधार नंबर और समग्र आईडी का होना अनिवार्य है।
  • मध्य प्रदेश ई उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण करने के लिए मोबाइल नंबर होना जरूरी है और जो आपके आधार कार्ड से लिंक भी होना चाहिए।
  • पंजीकरण हो जाने के बाद आपको एक रसीद दी जाएगी इस रसीद को आप को संभाल कर रखना है।

एमपी उपार्जन पोर्टल 2021 के पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या है?

  • आवेदक की समग्र आईडी
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • ऋण पुस्तिका
  • बैंक पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

एमपी उपार्जन प्रक्रिया

एमपी ई उपार्जन के अंदर 6 स्टेप है। इन 6 स्टेप में किसान द्वारा माल खरीदने, बिक्री और परिवहन आदि शामिल किए गए हैं जो कि निम्न प्रकार है-

  • सबसे पहले आपको खरीद केंद्र पर जाना होगा और वहां जाकर आपको अपना पंजीकरण कराना होगा।
  • पंजीकरण हो जाने के बाद आपको एक रजिस्ट्रेशन कोड दिया जाएगा।
  • इसके बाद गेहूं की खरीद की तिथि की जानकारी देने के लिए आपके पास एक मैसेज आएगा।
  • अब आपको जो डेट एसएमएस के माध्यम से भेजी गई है उसी दिन आपको खरीद केंद्र पर जाना होगा।
  • अब आपके गेहूं को खरीद लिया जाएगा और आपको एक रिसिप्ट प्रदान की जाएगी।
  • इसके बाद आपके गेहूं का आपको भुगतान कर दिया जाएगा।

एमपी उपार्जन पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

    • अब आपको रबी 2021- 22 के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

    • अब आपके सामने नया पेज खुल कर आ जाएगा।
    • अब आपको एक फॉर्म दिखाई पड़ेगा इस फॉर्म में पूछी गई समस्त जानकारियों जैसे किसान का नाम, मोबाइल नंबर, समग्र आईडी आदि सभी जानकारी को सही सही भरना होगा।
    • अब आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपका आवेदन पूरा हो गया है।
  • एमपी उपार्जन आवेदन स्थिति जानने की प्रक्रिया

    • अब आपके सामने नया पेज खुल कर आ जाएगा।
    • अब आपको एप्लीकेशन नंबर को भरना होगा।
    • अब आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
    • इस प्रकार आप आवेदन की स्थिति को देख पाएंगे।
  • पंजीयन केंद्र लॉगइन करने की प्रक्रिया –
    • सबसे पहले आपको एमपी उपार्जन पोर्टल की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
    • अब आपको रबी 2021- 22 के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपको अदर यूजर के अंदर पंजीयन केंद्र के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपको इसमें जिला, पंजीयन केंद्र, ऑपरेटर, ओटीपी,पासवर्ड और कैप्चा कोड को भरना होगा ।
    • अब आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।
    • इस प्रकार आप पंजीयन केंद्र में लॉगिन कर पाएंगे।
  • एमपी उपार्जन मोबाइल ऐप कैसे डाउनलोड करें?
    • सबसे पहले आपको मोबाइल के गूगल प्ले स्टोर में जाना होगा ।
    • अब आपको Search Box में MP E-Uparjan सर्च करना होगा।
    • अब आपको ऐप को डाउनलोड करना होगा और फिर उसे इंस्टॉल करना होगा।
    • इस प्रकार आप अपने मोबाइल ऐप की मदद से पंजीकरण कर के लाभ प्राप्त कर सकेंगे।
  • किसान पंजीयन फॉर्म में अन्य खसरा कैसे जोड़े?
    • सबसे पहले आपको एमपी उपार्जन पोर्टल की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
    • अब आपको खरीफ 2020- 21 के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपके सामने नया पेज खुल कर आ जाएगा। अब आपको खरीफ उपार्जन वर्ष 2020- 21 हेतु किसान पंजीयन आवेदन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपके सामने नया पेज खुलकर आ जाएगा।
    • अब आपको किसान पंजीयन आवेदन में अन्य खसरा जोड़ने के लिए यहां क्लिक करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपके सामने नया पेज खुलकर आ जाएगा।
    • अब आपको इस पेज में पूछी गई सभी जानकारियों को जैसे किसान का नाम, मोबाइल नंबर, समग्र आईडी, बैंक संबंधी जानकारी आदि को सही सही भरना होगा।
    • अब आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
    • इस प्रकार आप किसान पंजीयन में अन्य खसरा को जोड़ पाएंगे ।
  • पावती पर्ची कैसे प्राप्त करें?
    • बसे पहले आपको एमपी उपार्जन पोर्टल की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
    • अब आपको खरीफ 2020- 21 के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपको खरीफ उपार्जन वर्ष 2020- 21 हेतु किसान पंजीयन आवेदन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपके सामने नया पेज खुलकर आ जाएगा।
    • इस पेज पर आपको पावती पर्ची प्राप्त करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपके सामने नया फॉर्म खुल जाएगा इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारियों को भरना होगा। अब आपको सर्च करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा ।
    • अब आपके पेज पर पावती पर्ची आ जाएगी आप इसे डाउनलोड भी कर सकते हैं।
  • तहसीलदार लॉगइन करने की प्रक्रिया –
    • सबसे पहले आपको एमपी उपार्जन पोर्टल की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
    • अब आपको रबी 2021- 22 के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपके सामने नया पेज खुल कर आ जाएगा।
    • अब आपको तहसीलदार के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपके सामने नया पेज खुल कर आ जाएगा
    • जिसमें आपको जिला, तहसील का चयन, पासवर्ड और कैप्चा कोड को भरना होगा।
    • अब आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।
    • इस प्रकार आप तहसीलदार लॉगिन कर पाएंगे।
  • प्रबंधक नाफेड लॉगइन करने की प्रक्रिया –
    • सबसे पहले आपको एमपी उपार्जन पोर्टल की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
    • अब आपको रबी 2021- 22 के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपको प्रबंधक नाफेड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
    • अब आपके सामने नया पेज खुल कर आ जाएगा।
    • अब आपको इसमें जिले का चयन, पासवर्ड और कैप्चा कोड को भरना होगा।
    • अब आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।
    • इस प्रकार आप प्रबंधक नाफेड लॉगिन कर पाएंगे।

हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से एमपी उपार्जन पोर्टल से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी को आपसे साझा कर दिया है। यदि आपको आवेदन करने में किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है तो आप विभाग द्वारा जारी ईमेल आईडी पर संपर्क कर सकते हैं और अपनी समस्या को दूर कर सकते हैं।

ईमेल आईडी euparjanmp@gmail.com

  • 20
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *